Home Health/Accident सूरज दददा के बदले तेवर, जन जीवन अस्त-व्यस्त

सूरज दददा के बदले तेवर, जन जीवन अस्त-व्यस्त

सूरज दददा के बदले तेवर, जन जीवन अस्त-व्यस्त
घाटमपुर । गर्मी का असर अब दिन ब दिन और तेज होता जा रहा है। तन झुलसाने वाली धूप से बचने के लिए सभी युक्ति फेल साबित हो रही है। मानसून से आने के बाद भी लोग बेहाल नजर आ रहे है। गर्मी के कारण जनजीवन बेहाल नजर आ रहा है। रात दिन वाहनों से गुलजार रहने वाले हाई-वे पर दुपहरी को सन्नाटा पसरा रहता है। हवाओं की गति कभी कम तेज बनी रहने से उमस का प्रभाव चरम पर पहुंच चुका है।
बीते एक सप्ताह से मौसम का मिजाज भी खुशनुमा हुआ परन्तु गर्मी से राहत नही मिल सकी । मानसून के रुख में कोई तब्दीली नही आने से लोग बेहाल नजर आ रहे है। हवाओं का रुख कभी पश्चिमी कभी पुरवाई बना हुआ है। सुबह से ही धूप का असर चरम पर आ जाता है। दोपहर में भीड़-भाड़ वाली सड़कें भी सन्नाटे की आगोश में आ जाती है। हवा का रुख मंद पड़ने से शनिवार को तापमान 39 डिग्री तक जा पहुंचा। उमस और तेज धूप ने लोगो को घरों में दुबकने पर मजबूर कर दिया।
कड़े परिश्रम से तैयार की गई किसानों की जायद फसलें पानी के अभाव में दम तोड़ रही है।रजबहों व नहरों में इस समय पानी नही होने के कारण बिन पानी के अभाव में धान की फसलें बिना पानी के सूख चुकी हैं। भीषण गर्मी के कारण हर समय वाहनों से गुलजार रहने वाले हाई-वे भी दोपहर के समय सन्नाटे का शिकार है। धूप से परेशानी सर्वाधिक मुसाफिरों को उठानी पड़ रही है। तेज धूप से बचने के लिए लोग पूरी तरह कपड़ों से ढंके नजर आते है। आने वाले दिनों में हवा का मिजाज नही बदलने से धूप की तल्खी और अधिक तेज होने की बात कही जा रही है।