Home Education News बिहार में खराब परीक्षाफल को लेकर खलबली , पूरक परीक्षा की तैयारी

बिहार में खराब परीक्षाफल को लेकर खलबली , पूरक परीक्षा की तैयारी

SHARE

पटना (बिहार) रिपोर्ट सर्वेश तिवारी :-  बिहार में इंटर के रिजल्ट के बाद सरकार में खलबली मच गई है। मुख्यमंत्री नीतीश कुमार भी छात्रों के भविष्य को लेकर चिंतित दिख रहे हैं। खराब रिजल्ट आने पर छात्रों के हंगामे के बाद मुख्यमंत्री ने अपने आवास पर शिक्षा विभाग के तमाम अधिकारियों के साथ बातचीत कर रहे हैं। मुख्यमंत्री ने रिजल्ट को लेकर शिक्षा मंत्री को सीएम आवास में तलब किया है।

आपको बता दें कि खराब रिजल्ट को लेकर प्रदर्शन कर रहे छात्रों पर पुलिस ने लाठीचार्ज किया। इंटर के छात्रों ने हंगामा करते हुए इंटर काउंसिल का गेट तोड़ने की कोशिश के जिसके बाद पुलिस को लाठीचार्ज करनी पड़ी। छात्र रिजल्ट में गड़बड़ी का आरोप लगा रहे है।

गौरतलब है कि बिहार का इंटर का रिजल्ट आने के बाद दो-तीन तरह की राय सामने आ रही है। एक तबका रिजल्ट को आधार बना कर मान रहा कि बिहार की शिक्षा व्यवस्था चौपट हो चुकी है। दूसरी श्रेणी में वे लोग हैं जो मजाक उड़ाते हुए और तंज कसते हुए इसे बिहार की हकीकत बता रहे हैं।

यानी प्रकारांतर से वे सरकारी स्कूलों में पढ़ने वाले बच्चों की प्रतिभा पर सवाल खड़ा कर रहे हैं। इसके लिए बच्चा राय प्रकरण का हवाला भी दिया जा रहा है। वही बच्चा राय, जो मैट्रिक की परीक्षा में पास कराने का ठेका लेते थे, लेकिन टॉप कराने के चक्कर में धरे गए। एक मानस खराब रिजल्ट से उपजे गुस्से का है जो मान रहा है कि कॉपी जांचने में गड़बड़ी हुई।

उधर इंटर के खराब रिजल्ट पर मचे घमासान के बीच उपयुक्त कारणों की पड़ताल जारी है।ऐसे में एक और एंगल पर जांच की आवष्यकता है।कहीं अतिरिक्त सावधानी के चलते शिक्षकों ने कॉपी मूल्यांकन में अतिरिक्त शक्ति तो नहीं बरता।जिसका खामियाजा मासूम छात्रों को भुगतना पड़ा।मार्किंग स्तर इस ओर भी इशारा कर रहा है ।

इधर छात्रों का प्रदर्शन जारी है।मुख्यमंत्री ने भी इसे लिया गम्भीरता से है ၊बिहार इंटेरमीडियट के रिजल्ट पर भारतीय जनता युवा मोर्चा के प्रदेश अध्यक्ष विधयक नितिन नवीन ने आज मिडिया से बात करते हुए कहा कि बिहार इण्टर परीक्षा के परिणाम से बिहार के छात्रों के भविष्य के साथ धोखा हुआ है.

ऐसा रिजल्ट इससे पहले 1997 में लालू राज्य के समय आया था जब चरवाहा विद्यालय चलता था. अब नीतीश जी राज्य में ऐसा बुरा रिजल्ट आया है. उन्होंने मांग किया कि इसकी तत्काल जाँच हो तथा कॉम्पटमेंट की परीक्षा जल्दी हो. बीजेपी ने अशोक चौधरी के इस्तिफें की मांग की हैं.

नितिन नवीन ने सरकार से की मांग किया हैं कि छात्रों के कॉपी का बिना शुल्क लिए पुनःमूल्यांकन किया जाए नही तो भाजयुमो छात्रों की हित मे पूरे राज्य में आंदोलन करेगी. बिहार एक बार फिर लालू के शासनकाल के दौर में पहुँच गया हैं.


सर्वेश तिवारी


टॉप न्यूज़ 24×7 से जुड़ने के लिए 

Click here

ताजा अपडेट के लिए हमारे फेसबुक पेज को लाइक करने के लिए यहां, ट्विटर हैंडल को फॉलो करने के लिए यहां क्लिक करें। हर पल अपडेट रहने के लिए ANDROID पर TOP NEWS 24X7 APP डाउनलोड करने के लिए क्लिक करें। 

Click here

Share This News

Disclaimer

हमे आप के इस TopNews24x7 Online Hindi News Channel   को बेहतर बनाने में सहायता करें किसी खबर या अंश मे कोई गलती हो या सूचना / तथ्य मे कमी हो अथवा कोई कॉपीराइट आपत्ति हो तो वह यहाँ सूचित करे  indiatopnews24x7@gmail.com पर  साथ ही साथ पूरी जानकारी तथ्य के साथ दे । जिससे आलेख को सही किया जा सके या हटाया जा सके ।