Home Festival News शिवरात्री पर मंदिरों में भक्तों की भीड़, शिवलिंग पर किया जलाभिषेक

शिवरात्री पर मंदिरों में भक्तों की भीड़, शिवलिंग पर किया जलाभिषेक

SHARE
शिवरात्री पर मंदिरों में भक्तों की भीड़
शिवरात्री पर मंदिशिवरात्री पर मंदिरों में भक्तों की भीड़रों में भक्तों की भीड़
लाडवा, 14 फरवरी(नरेश गर्ग): महाशिवरात्री पर बुधवार को कस्बे के शिवालयों में शिवभक्तों की भारी भीड रही। सुबह से ही शिवालयों में भोलेनाथ का अभिषेक करने के लिए श्रद्धालुओं की कतारें लग गई। कस्बे के प्रमुख शिव मंदिर एकादश रूद्र तीर्थ सोहन तालाब पर हजारों श्रद्धालुओं ने एकादश रूद्रों का जलाभिषेक कि या। हरिद्वार से शुक्रवार को पैदल कांवड़ में गंगाजल लेकर चले कांवडियों ने भी सीधे सोहन तालाब मंदिर में पंहुचकर भगवान शिव का गंगाजल व पंचामृत से अभिषेक किया।
कस्बे के शिवाला रामकुंडी, बडे हनुमान मंदिर के ग्यारह रूद्री शिव मंदिर, शिवदिवाला रूलियाराम मंदिर, मंदिर अठवाडियान, दुखभंजन मंदिर, ज्वाला जी मंदिर, हनुमान मंदिर, जमनादास मंदिर, विश्वकर्मा मंदिर व शाकुंभरी देवी मंदिर स्थित शिवालयों में भी श्रद्धालुओं ने बुधवार को जल चढाकर भगवान शिव की पूजा-अर्चना की। शिवरात्री पर कई मंदिरों में भंडारे का भी आयोजन किया गया जिसमें भारी संख्या में श्रद्धालुओं ने प्रशाद ग्रहण किया।
दुखभंजन मंदिर वार्ड. 11 के पुजारी पंडित अमरदेव शास्त्री ने बताया कि देव-दानवों द्वारा समुद्रमंथन के दौरान कालकूट नामक विष निकला तो तीनों लोकों को विष के प्रभाव से बचाने के लिए भगवान शिव ने विषपान  किया था तो देवताओं ने विष की ज्वाला को शांत करने के लिए इस दिन भोलेनाथ का जलाभिषेक किया था। पं अमरदेव शास्त्री के अनुसार इस दिन को भगवान शिव व माता पार्वती के  विवाह से जोडक़र भी देखा जाता है।