Home Politics योग दिवस पर राजनीति हुई हावी

योग दिवस पर राजनीति हुई हावी

धमतरी-21-0612018 विजय साहू
27 सितंबर 2014 को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने संयुक्त राष्ट्र में अपने पहले संबोधन में अंतरराष्ट्रीय योग दिवस मनाने की जोरदार पैरवी की थी। इस प्रस्ताव में उन्होंने 21 जून को अंतरराष्ट्रीय योग दिवस के रूप में मान्यता दिए जाने की बात कही थी। मोदी की इस पहल का 177 देशों ने समर्थन किया। संयुक्त राष्ट्र महासभा के 69वें सत्र में इस आशय के प्रस्ताव को लगभग सर्वसम्मति से स्वीकार कर लिया। और 11 दिसम्बर 2014 को को संयुक्त राष्ट्र में 193 सदस्यों द्वारा 21 जून को ‘‘अंतर्राष्ट्रीय योग दिवस’’ को मनाने के प्रस्ताव को मंजूरी मिली। प्रधानमंत्री मोदी के इस प्रस्ताव को 90 दिन के अंदर पूर्ण बहुमत से पारित किया गया, जो संयुक्त राष्ट्र संघ में किसी दिवस प्रस्ताव के लिए सबसे कम समय है। पहला अंतर्राष्ट्रीय योग दिवस 21 जून 2015 को मनाया गया और पूरे विश्व में धूमधाम से मनाया गया। इस दिन करोड़ों लोगों ने विश्व में योग किया जो कि एक मिसाल था।
लेकिन धमतरी जिला प्रशासन द्वारा आयोजित प्रधानमंत्री जी औऱ राष्ट्र के महत्वपूर्ण कार्यक्रम में कॉर्ड में उल्लिखित मुख्यातिथ्य को धता बताते हुवे धमतरी जिला मुख्यालय में ना आकर कुरुद में बिना योग करे दुसरो के योग औऱ आसान को ताकते भर रहे।