Home श्रावस्ती दीन दयाल उपाध्याय किसान समृद्धि योजना में शिथिलिता क्षम्य नही-डी0एम0 

दीन दयाल उपाध्याय किसान समृद्धि योजना में शिथिलिता क्षम्य नही-डी0एम0 

SHARE

श्रावस्ती ब्यूरो प्रदीप गुप्ता/ किसानों के तरक्की और समृद्धि के लिए प्रदेश सरकार प्रतिबद्ध है। इसीलिए सरकार ने भूमि संरक्षण विभाग के माध्यम से पण्डित दीनदयाल उपाध्याय योजना का संचालन कर किसानों को लाभान्वित करने का जो फैसला लिया है इसमें किसी भी प्रकार की शिथिलिता कदापि न बरती जाये और ढ़ंग से पात्र किसानों का चयन कर उन्हे लाभान्वित किया जाये।

उक्त निर्देश कलेक्ट्रेट में भूमि संरक्षण विभाग द्वारा किसानों को दी जा रही योजनाओ की समीक्षा करने के दौरान जिलाधिकारी दीपक मीणा ने दिया है। उन्होने जोर देते हुए कहा कि किसानों के हित में गावों में संचालित योजनाओं के माध्यम से गावों में कराये गये वृक्षारोपण, मेड बन्दी एवं समतलीकरण आदि कार्यों का सत्यापन कराया जायेगा। यदि कंही कमी मिली तो निश्चित ही सम्बन्धित गावों के प्राविधिक सहायक एवं निरीक्षक के विरूद्ध निश्चित ही कार्यवाही की जायेगी। नाबार्ड द्वारा दीन दयाल किसान समृद्धि योजना के तहत किसानों को दी गई योजनाओं से लाभ एवं उनकी लागत तथा कार्य प्रारम्भ एवं पूरा करने की तिथि का ब्योरा न उपलब्ध कराने पर जिलाधिकारी ने गहरी नाराजगी व्यक्त करते हुए भूमि संरक्षण अधिकारी से तीन दिन के अन्दर पूरा ब्योरा कार्य विवरण एवं लागत सहित उपलब्ध कराने का निर्देश दिया है। 

जिलाधिकारी ने यह भी निर्देश दिया कि जो प्राविधिक सहायक एवं निरीक्षक ढ़ंग से सरकार के मंशानुरूप कार्य नही करेगें तो निश्चित ही उन्हे अब दण्डित किया जायेगा। उन्होने कहा कि विभाग को सरकार द्वारा जो लक्ष्य दिया गया है वह हरहाल में युद्धस्तर पर कार्य कराके मार्च, 2018 तक अवश्य पूरा करा दिया जाय यदि कार्य न पूरा कराने की वजह से धनराशि समर्पित करने की नौबत आई तो निश्चित ही दोषी मानते हुए सम्बन्धित अधिकारी/कर्मचारी के विरूद्ध इस लापरवाही के लिए कार्यवाही की जायेगी।

इस अवसर पर भूमि संरक्षण अधिकारी सहित प्राविधिक सहायकगण उपस्थित रहे।