Home Social उर्वरक का वितरण ई-पास मशीन से न करने पर होगी लाइसेंस निरस्त...

उर्वरक का वितरण ई-पास मशीन से न करने पर होगी लाइसेंस निरस्त की कार्यवाही-जिलाधिकारी

55
0
SHARE
उर्वरक का वितरण ई-पास मशीन से न

श्रावस्ती ब्यूरो प्रदीप गुप्ता:- कलेक्ट्रेट सभागार में विकास कार्यक्रमो के प्रगति की गहन समीक्षा जिलाधिकारी दीपक मीणा करते हुए सभी अधिकारियो को निर्देश दिया कि अपने कार्यों को शत-प्रतिशत पूरा करें। उन्होने जोर देते हुए कहा कि जिन-जिन विभागो के निर्माणाधीन विकास कार्य है, उन्हे सम्बन्धित विभागीय अधिकारी अपना नैतिक दायित्व निभाते हुए उसे गुडवत्ता पूर्ण ढंग से समय से पूरा कराये ताकि जनपद वासियों को इसका लाभ मिल सके।

प्रधान मंत्री ग्रामीण आवास योजना की समीक्षा के दौरान ये पाया गया कि धन देने के बावजूद शत्-प्रतिशत आवासो के ना बनने पर भी उन्होने इस कार्य में सुधार लाने के लिए परियोजना निदेशक को निर्देश दिया कि पैसा देने के बावजूद यदि आवास पूर्ण न हुआ हो तो जल्द से जल्द पूरा कराये जाने का निर्देश दिया। लोक निर्माण विभाग के अन्तर्गत गड्ढा मुक्त सड़को की समीक्षा के दौरान अभी भी कई सड़को को गड्ढा मुक्त न करने पर जिलाधिकारी ने गहरी नराजगी जताते हुए जिले में बरसात से खराब हुई सड़को को देख कर उन्हे तत्काल मरम्मत कराने का निर्देश दिया।

बेसिक शिक्षा विभाग की समीक्षा के दौरान जिलाधिकारी ने जुलाई से प्रारम्भ होने वाले नवीन शिक्षासत्र 2018-19 के लिए बच्चों को यूनीफार्म दिए जाने सम्बन्धी आवश्यक दिशा निर्देश जारी किए हैं। उन्होने निर्देश दिए कि सभी विद्यालयों में यूनीफार्म समय से वितरण हेतु अभी से आवश्यक तैयारियां पूरी कर ली जाय तथा बच्चों को यूनीफार्म वितरण गुणवत्तापूर्ण समय से कराया जाय। सभी खण्ड शिक्षा अधिकारियों कोे निर्देश दिया कि स्कूल खुलने से पहले बच्चों की नाप करा ली जाय तथा यूनीफार्म रेडीमेड कतई न लिया जाय।उर्वरक का वितरण ई-पास मशीन से न

बच्चों की साइज का यूनीफार्म सिलवाकर प्रत्येक दशा में दिया जाए। उन्होने साफ चेतावनी दी कि खराब गुणवत्ता की यूनीफार्म और रंग आदि में भिन्नता वाली ड्रेस कतई न बांटी जाए। जिलाधिकारी ने जिला बेसिक शिक्षा अधिकारी प्रतिनिधि तथा जिला कार्यक्रम अधिकारी को निेर्देश दिया कि आपस में सामंजस्य बनाकर जिन-जिन बच्चों के आधार कार्ड न बने हो शत-प्रतिशत आधार कार्ड बनवाने का निर्देश दिया। बैठक में जिला पंचायतराज अधिकारी को निर्देश दिया कि शत-प्रतिशत शौंचालय का निर्माण कराना सुनिश्चित करें तथा निर्माण कराये गये शौंचालय का प्रयोग करने के लिए प्रेरित करें। कृषि विभाग की समीक्षा के दौरान ज्ञात हुआ कि अभी तक शत-प्रतिशत उर्वरक का वितरण नही किया जा रहा है जिस पर जिलाधिकारी ने कृषि अधिकारी को निर्देश दिया कि जो भी उर्वरक डिस्ट्रीब्यूटर सोमवार तक ई-पास मशीन ले लें।

यदि उर्वरक का वितरण ई-पास मशीन से न किया जाय तो सम्बन्धित लाइसेन्स निरस्त करने की कार्यवाही की जाय। इसके अलावा जिलाधिकारी ने कैशलेश पंजीकरण, ई-आफिस प्रणाली हेतु डिजिटल सिग्नेचर, सामूहिक विवाह, शादी अनुदान, पेंशन प्रकरण, पारिवारिक लाभ, स्वास्थ्य, माध्यमिक शिक्षा, आई0सी0डी0एस0, सहित अन्य तमाम विभागो की गहन समीक्षा किया तथा संबन्धित विभागीय अधिकारीयों को बेहतर ढंग से कार्य कर जिले को विकसित करने का निर्देश दिया है। इस अवसर पर मुख्य चिकित्साधिकारी डा0 वी0के0 सिंह, अतिरिक्त उप जिला मजिस्ट्रेट सीपू गिरि, परियोजना निदेश, डी0सी0 मनरेगा, जिला समाज कल्याण अधिकारी राकेश रमन, जिला पिछड़ा वर्ग कल्याण अधिकारी मोहन त्रिपाठी अधिशाषी अभियन्ता विद्युत, खण्ड विकास अधिकारीगण सहित अन्य अधिकारी उपस्थित रहे।