Home Sitapur लहरपुर में ईदुल-फितर की तैयारी में बढ़ने लगी बाजारों में हलचल।

लहरपुर में ईदुल-फितर की तैयारी में बढ़ने लगी बाजारों में हलचल।

रिपोर्ट एहतिशाम बेग

लहरपुर में ईदुल-फितर की तैयारियां जोरों पर हैं। रमजान महीने के जैसे-जैसे दिन गुजर रहे और ईद नजदीक आ रही है। वैसे वैसे ईद के तैयारियां जोर पकड़ती जा रही हैं लेकिन ईद मुबारक के मौक पर बिना सेवंई बिना मिठास अधूरी है। सूत फेनी, सेवंई के अलावा सबसे ज्याद खरीदारी कपड़ों और जूतियों की है। रेडीमेड से लेकर दर्जी की दुकानों तक भीड़ नजर आ रही है। दरअसल सेवंई हिंदू मुस्लिम एकता की अनोखी धरोहर भी है। जिसे मुस्लिम भाईयों के अलावा हिंदू भाई बड़े उत्साह के साथ खरीद कर जाते हैं।

पुरुषों से ज्यादा महिलाएं खरीदार!

सीतापुर, लहरपुर बिसवां,तंबौर, सदरपुर, , जिले की हर तहसीलों समेत अभी बाजार खरीदारों से पटे हैं। हर जगह मेले जैसा नजारा है। ऐसे ही एक नज़ारा मेरे द्वारा मज़ाशाह ,गुरखेत बाजार का अपने कैमरे में कैद किया कई जगह तो पैदल चलना दुश्वार हो रहा है। बाजार में सबसे अधिक रेडीमेड कपड़ों की दुकानें हैं। कपड़ों की दुकानों में ग्राहकों की खासी भीड़ दिख रही है। खास बात यह कि खरीदारी के लिए पुरुषों से ज्यादा महिलाएं आ रही हैं।

हर कोई मिलकर त्योहार मनाए
इस बीच -जिले थानास्तर पर मुहल्ला शांति कमेटियां सक्रिय की जा रही हैं। प्रसासनिक अधिकारी मिलजुलकर त्योहार मनाने का संदेश देते नजर आ रहे हैं। प्रशासन तैयार है।  कई स्थानें पर कमेटियों ने ईद मिलजुल कर आपसी सौहार्द के साथ मनाने का निर्णय लिया गया।  बैठकों में अधिकारी सभी तत्वों को एक दूसरे के पूरक बता रहे हैं। वह कहते हैं कि हर किसी को मिलकर त्योहार मनाना चाहिए। अमन चैन में अगर किसी ने बाधा पहुंचाई तो उसके खिलाफ सख्त कार्रवाई की जाएगी। इसको लेकर लहरपुर प्रशासन पूरी तरह से तैयार है।

भा रहे लहरपुर मुदस्सिर मालिक की दुकान के आर्टिफिशयल जेवलर महिलाओं को
कपड़े के काम में लहरपुर की कोई सानी नहीं है। यहां की भालारू की बिरयानी चिकन तो बहुत खास है। ताज कॉस्मेटिक सेंटर मुजम्मिल एक दुकानदार का कहना है कि इस बार सभी प्रकार की आकर्षण डिजाइन के जेवलर उपलब्ध हैं। उधर दूसरी तरफ यंग स्टार टेलर हाशिम अंसारी पुत्र कदीर अंसारी कहना है की कढ़ाईदार कुर्ता, पैजामा, सलवारसूट आदि की खरीदारी ज्यादा हो रही है। गर्मी को देखते इस बार लोग कुर्ता-पैजामा की मांग ज्यादा कर रहे हैं।

युवतियां चिकन कढ़ाईदार कुर्ती और पैजामा ज्यादा पसंद कर रही हैं। बाजार में कपड़ों की दुकानों पर बड़ी संख्या में महिलाएं, बच्चे कपड़ों की खरीदारी में लगे हुए हैं। भीड़ रेडीमेड से लेकर टेलर की दुकान तक लगी रहती है दरअसल, ईद में नए कपड़े पहनने का चलन हैं। इसको देखते दुकानदारों ने भी नए-नए डिजाइन के कपड़े मंगवाए हैं। नईम अंसारी नाम के एक दुकानदार ने बताया कि ईद में कपड़ों की मांग अधिक होने के कारण इस बार बेहतर किस्म के रेडीमेड कपड़े मंगवाए हैं।

कपड़े की खरीदारी कर रही शबा परवीन एवं आसियाबानो का कहना है कि ईद के समय जल्दबाजी में मनपसंद कपड़े नहीं मिल पाते हैं। रेडीमेड के अलावा टेलर की दुकानों में लोगों की भीड़ लग रही। टेलर सलीम ने बताया कि दुकान में कपड़े सिलने के लिए ढेर लगे हुए हैं। सभी लोगों ने ईद की पूर्व संध्या तक अपने कपड़े मांगे हैं। ऐसे में कारीगरों को दिन-रात सिलाई का काम करना पड़ रहा है।