Home Kanpur पेयजल के लिए ग्रामीण क्षेत्रों में मचा हाहाकार

पेयजल के लिए ग्रामीण क्षेत्रों में मचा हाहाकार

भीषण गर्मी, जेठ की आग उगलती दुपहरी एवं पछिया बयार के गर्म झौंके ने ग्रामीण क्षेत्रों  में पेयजल का गंभीर संकट पैदा कर दिया है।

 

सर्वत्र पेयजल के लिए हाहाकार मचा है। ग्रामीण क्षेत्रों के लोग पानी के लिए त्राहि-त्राहि कर रहे हैं तथा कोसों दूर से गंदा एवं दूषित पानी लाकर अपनी प्यास बुझा रहे हैं। भीषण गर्मी के कारण तहसील क्षेत्र  के लगभग सभी कुएं, तालाब, पोखर, नदी, नाले पैइन आदि सूख चुके हैं।

 

परम्परागत जल स्त्रोतों के सूख जाने से भूगर्भ जल का स्तर काफी नीचे भाग जाने के कारण पेयजल के लिए आमलोगों को काफी परेशानी का सामना करना पड़ रहा है। जानवरों एवं पक्षियों के समक्ष भी पेयजल की समस्या उत्पन्न हो गयी है।

 

पेयजल संकट के कारण आमलोग अपने काम धंधे को छोड़कर चापाकलों के समक्ष पानी के लिए जहां नम्बर लगाते देखे जा रहे हैं वहीं पानी भरने के सवाल को लेकर कई जगहों पर मारपीट एवं हाथापाई हो जाने की भी खबर है। पेयजल के इस भयावह जल विभाग अस्तित्व विहीन बना बैठा है जिससे आम लोगों में जल  विभाग के रवैये को लेकर गहरा आक्रोश व्याप्त है।