Home Chamoli गंगा पौधारोपण सप्ताह के अंतर्गत किया वृक्षारोपण ,ग्रामीणों ने लिया हिस्सा

गंगा पौधारोपण सप्ताह के अंतर्गत किया वृक्षारोपण ,ग्रामीणों ने लिया हिस्सा

चमोली :-    नमामि गंगे परियोजना के अन्तर्गत वन प्रभाग के गंगा पौधरोपण सप्ताह के दूसरे दिन मंगलवार को अलकनंदा नदी के किनारे क्षेत्रपाल वन पंचायत की भूमियाल तोक में वृहद पौधरोपण कार्यक्रम का आयोजन किया गया। इस दौरान बद्रीनाथ वन प्रभाग की ओर से 01 हैक्टेयर क्षेत्रफल में विभिन्न प्रजाति के एक हजार पौधों का रोपण किया गया।

ब्लाक प्रमुख दशोली विमला सजवाण, जिला पंचायत सदस्य देवेन्द्र सिंह नेगी, बंड विकास संगठन के अध्यक्ष शम्भू प्रसाद व कोषाध्यक्ष विहारीलाल बनवाल ने भी पौधरोपण कर कार्यक्रम में प्रतिभाग किया। नमामि गंगे परियोजना के तहत 09 से 15 जुलाई तक गंगा वृक्षारोपण सप्ताह मनाया जा रहा है। जिसमें सामूहिक प्रयासों से गंगा नदी के तटों पर पौधरोपण कर पर्यावरण को संरक्षित रखने का कार्य किया जा रहा है।

इससे पूर्व गंगा पौधरोपण सप्ताह के तहत पर्यावरण संरक्षण को लेकर बद्रीनाथ वन प्रभाग की ओर से विरही में सामूहिक गोष्ठी का आयोजन भी किया गया। गोष्ठी में ब्लाक प्रमुख विमला सजवाण, जिला पंचायत सदस्य देवेन्द्र सिंह नेगी, बंड विकास संगठन के अध्यक्ष शम्भू प्रसाद ने भी गोष्ठी को संबोधित करते हुए कहा कि सामूहिक प्रयासों से ही पर्यावरण को संतुलित रखा जा सकता है। उन्होंने बंजर और निष्प्रोज्य भूमि पर पौधरोपण कर गंगा पौधरोपण अभियान को सफल बनाने की बात कही।
इस मौके पर बद्रीनाथ वन प्रभाग के उप वन संरक्षक एनएन पाण्डे ने नमामि गंगे परियोजना के संबध में जानकारी दी। उन्होंने कहा कि नमामि गंगे परियोजन के तहत 168 करोड़ के प्रस्ताव भारत सरकार को भेजे गये थे, जिसमें से 61.72 करोड़ के प्रस्ताव स्वीकृत किये गये है तथा स्वीकृत धनराशि के सापेक्ष 1.5 करोड़ धनराशि अवमुक्त हुई है। कहा कि परियोजना का उद्देश्य जल संरक्षण एवं सर्वद्वन करना है, जिसके लिए वृहत स्तर पर पौधरोपण का कार्य किया जाना है। उन्होंने कहा कि किसी भी वन पंचायत क्षेत्र में खाली स्थान है या निष्प्रोज्य भूमि है,
जहाॅ पौधरोपण किया जा सकता है, तो वन प्रभाग द्वारा ऐसी वन पंचायतों को पौधरोपण के लिए पूरा सहयोग दिया जायेगा। इसके अलावा कोई भी इच्छुक व्यक्ति/काश्तकार फलदार पौध लगाना चाहता है तो उनको भी वन प्रभाग के माध्यम से पौध उपलब्ध करायी जायेगी। उन्होंने अधिक से अधिक लोगों को गंगा पौधरोपण सप्ताह में भाग लेकर पौधरोपण करने तथा रोपे गये पौधों का संरक्षण करने की अपील की। पौधरोपण कार्यक्रम में क्षेत्रीय जनप्रतिनिधि, वन पंचायत सरपंच, वन विभाग के अधिकारी व कर्मचारियों सहित स्थानीय लोग भी शामिल थे।