Home Kanpur गृहक्लेश से क्षुब्ध होकर फांसी पर झूले माँ-बेटे

गृहक्लेश से क्षुब्ध होकर फांसी पर झूले माँ-बेटे

गृहक्लेश से क्षुब्ध होकर फांसी पर झूले माँ-बेटे

घाटमपुर । सजेती थाना क्षेत्र के गांव कोटरा में गृहकलह से ऊबकर मां- बेटे ने मंगलवार सुबह खेतों में स्थित आम के पेड़ में फांसी लगा कर आत्महत्या कर ली। गृह कलह का मुख्य कारण खेतों में जमा भूसा के उड़ जाने को माना जा रहा है। जानकारी के मुताबिक कोटरा गांव निवासी स्व. रामनाथ निषाद उर्फ ढिल्लू के पांच बेटे थे। बताते चलें कि ढिल्लू की पत्नी जनकदुलारी (60) अपने सबसे छोटे बेटे सरवन (24) के साथ रहती थी। पांचों भाइयों के परिवार पैतृक साढ़े 3 बीघा भूमि पर खेती करके गुजर बसर करता थे । पिछले सप्ताह आई तेज आंधी के दौरान खेतों में जमा भूसा उड़ गया ।

जिसको लेकर भाइयों व मां के बीच आए दिन विवाद होता रहता था । मंगलवार सुबह भी सरवन व मां जनकदुलारी के बीच विवाद हुआ था। जिसके बाद जनकदुलारी घर से खेतों की ओर निकल गई। किसी अनहोनी की आशंका में सरवन भी उसके पीछे भागा । लेकिन उसके पहुंचने से पहले ही जनकदुलारी ने कोटरा गांव से गड़था गांव की ओर करीब 3 किमी दूर शिव बरन सिंह के नलकूप के समीप आम के पेड़ क में साड़ी से फांसी लगा कर आत्महत्या कर ली। मां को फांसी पर लटका देख सरवन ने भी पेड़ की दूसरी डाल में फांसी लगा कर आत्महत्या कर ली।

एक साथ मां बेटे को फांसी पर लटका देख क्षेत्र में चर्चा का विषय बना रहा । ग्रामीणों ने पुलिस को सूचना दी । मौके पर सजेती थाना प्रभारी आरपी त्रिपाठी, सीओ आरके चतुर्वेदी के मय पुलिस बल के साथ मौके पर पहुंचे । एसपी (ग्रामीण) प्रद्युम्न सिंह ने बताया कि प्रथम दृष्टया गृह कलह के चलते आत्महत्या की बात प्रकाश में आई है। पोस्टमार्टम रिपोर्ट आने के बाद ही आत्महत्या का कारण का पता चलेगा ।