Home Health/Accident हर तरफ नजर आते है गंदगी के ढ़ेर

हर तरफ नजर आते है गंदगी के ढ़ेर

हर तरफ नजर आते है गंदगी के ढ़ेर
भीतरगांव (घाटमपुर) । स्वच्छता मिशन को लेकर प्रदेश के मुख्यमंत्री आदित्य नाथ योगी की सरकार ने  गंभीरता से लेते हुए  सभी  सरकारी दफ्तरों के अधिकारी व कर्मचारी साफ-सफाई को लेकर बरते जानी वाली लापरवाही में कार्यवाही करने का आदेश दिया था । यंहा तक कि उन्होंने गांव में व्याप्त गंदगी के लिए गांव के प्रधान को जिम्मेदार ठहराया था कि अगर गांव में गंदगी के ढ़ेर देखने को मिलते है तो प्रधान जिम्मेदार होगा । और  सरकारी दफ्तरों की दीवारें पान की पीक से रंगी हुई मिली तो इंचार्ज जिम्मेदार होगा ।
परन्तु सरकारी कार्यालय हो या गांव की सड़कें , नाली सब गंदगी से पटे हुए हैं और गांवों में जगह-जगह गंदगी के ढेर भी देखे जा सकते हैं। इसका साक्षात नमूना घाटमपुर तहसील के ब्लॉक भीतरगांव गांव में देखने को मिल रहा है ।  बताते चलें कि  ब्लॉक भीतरगांव के अंतर्गत बस्ती के अंदर अवस्थी परिवार के द्वारा घूर डाले जाते हैं और गंदगी फैलाई जाती है । इस गंदगी के कारण गांव के बच्चे ,बूढ़े व महिलाएं बीमारियों का सामना कर रहे हैं ।
समस्त ग्रामवासी इस समस्या  को अपने ग्राम प्रधान को बताया तो प्रधान जी ने खंड विकास अधिकारी को प्रार्थना पत्र दिलाया । अधिकारियों ने आश्वासन दिया कि जल्द से जल्द कार्रवाई करता हूं । परन्तु ग्रामीणों को क्या पता कि अधिकारियों की कार्यवाही को एक  साल लगते है ।  परन्तु ग्रामीणों ने संतोष किया कि कार्यवाही होगी । परन्तु एक साल बीत जाने के बाद भी  अभी तक कोई कार्यवाही नहीं हुई ।  शासन-प्रशासन को भी कोई फर्क नहीं पड़ा । जबकि कुछ दिन पहले इसी गंदगी की समस्या के कारण उसी क्षेत्र के कुछ लोगों की मौतें हो चुकी हैं ।