Home Crime कानपुर थाने के अंदर ‘दरोगा पच्चालाल’ की चाकुओं से गोदकर हत्या

कानपुर थाने के अंदर ‘दरोगा पच्चालाल’ की चाकुओं से गोदकर हत्या

कानपूर :- योगीराज में अपराधियों के हौसले इतने बुलंद हो गए है कि एक दरोगा की थाने में बने आवास में सरेआम हत्या कर दी गई। बताते चलें कि उत्तर प्रदेश के कानपुर में थाने के अंदर दरोगा की बेरहमी से हत्या का सनसनीखेज मामला सामने आया है। घटना की जानकारी दूसरे दिन शाम को हो पाई। थाने के अंदर दरोगा की हत्या की सूचना मिलते ही एसएसपी अखिलेश कुमार और अन्य अधिकारी देर शाम मौके पर पहुंचे और जांच-पड़ताल शुरू की।

फोरेसिंक टीम को भी बुलाया गया। मंगलवार को पूरे दिन थाने में नहीं दिखे पच्चालाल मूलरूप से जनपद सीतापुर के थाना मानपुर के गांव रामपुर गढ़ी निवासी पच्चालाल गौतम (58) की बीते दिसंबर के महीने में घाटमपुर थाना सजेती में एचसीपी के पद पर तैनाती हुई थी। वह थाना परिसर में बने सरकारी आवास में रहते थे। बीते सोमवार को एचसीपी पच्चालाल ड्युटी करने के बाद अपने आवास पर चले गए। अगले दिन मंगलवार को वह पूरे दिन थाने में नहीं दिखे। शाम करीब 6.30 बजे के आसपास थाने के दीवान सुरेश पाल किसी कागज में हस्ताक्षर कराने के लिए उनके आवास पर गया।

शरीर पर कई जगह चाकू के घाव

बाहर से किवाड़ भिड़े हुए थे। उसने जैसे ही किवाड़ खोले तो अंदर का नजारा देख सन्न रह गया। अंदर तख्त पर एचसीपी पच्चलाल की खून से सनी लाश पड़ी हुई थी और वह सिर्फ अंडरवियर पहने हुए था। दरोगा के शरीर पर कई जगह चाकू के घाव थे।

प्रारंभिक जांच में ये आया सामने

थाने के भीतर आवास में एचसीपी की हत्या की जानकारी मिलते ही वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक अखिलेश कुमार और एसपी ग्रामीण मौके पर पहुंचे। प्रारंभिक जांच में हत्या किसी नजदीकी अथवा परिचित द्वारा किए जाने की आशंका है।

दरोगा ने की थीं दो शादियां

कानपुर घाटमपुर सजेती थाने में तैनात एचसीपी पच्चलाल की दो शादियां हुईं थीं। उसने दूसरा प्रेम विवाह हरदोई में तैनाती के दौरान किया था। दूसरी पत्नी से दो बेटियां बताई गई हैं। वहीं, जल्द ही वह सेवानिवृत्त भी होने वाले थे। पुलिस अधिकारी इस ओर भी जांच कर रहे हैं। पता लगाया जा रहा है कि बीते दो दिनों के दौरान एचसीपी से कौन मिलने आया और उनके कमरे में गया।