Home Crime सत्ता पक्ष के दबाव में 24 दिन बाद भी नहीं हुई जांच, ...

सत्ता पक्ष के दबाव में 24 दिन बाद भी नहीं हुई जांच,  न गिरफ्तारी

सत्ता पक्ष के दबाव में 24 दिन बाद भी नहीं हुई जांच
घाटमपुर रिपोर्ट अतुल त्रिवेदी :- कोतवाली क्षेत्र के  लौकहा गांव में बीते 22 जून को  रंजिशन कमलेश, पप्पू, गुड्डू, राजेश, ने चचेरे भाई सतीश एवं रामविलास पर चाकू लाठी एवं डंडे से रात्रि 10 बजे हमला कर दिया था ।  उक्त घटना में बचाते समय ज्ञानवती पत्नी सतीश कुमार , राधेश्याम पुत्र स्व० रामसजीवन भी गम्भीर रूप से घायल हो गए थे ।
बताते चलें कि पीड़ित पक्ष ने कोतवाली आकर उक्त आरोपियों के खिलाफ मुकदमा दर्ज कराया था पुलिस ने 307 324 323 504 506 धाराओं पर आरोपी ग्रहों के खिलाफ मुकदमा पंजीकृत कर उक्त प्रकरण की जांच घाटमपुर घाटमपुर एसआई राजेश कुमार रावत को सौंपी गई थी परंतु 25 दिन बीत जाने के बाद भी आज तक ना ही जांच पूरी हुई और ना ही कोई अधिकारी जांच के लिए घर पहुंचा जानकारी के अनुसार  बताते चलें कि  पप्पू  पुत्र  स्वर्गीय रामसनेही  एक बीजेपी विधायक की  फैक्ट्री में सुपरवाइजर के पद पर कार्य करता है ।
स्थानीय पुलिस पर सत्ता पक्ष का दबाव होने के कारण वह आरोपी गणों के खिलाफ कोई भी कार्यवाही करने में खुद को असमर्थ महसूस कर रही है क्योंकि यदि जांच अधिकारी आरोपी गणों के खिलाफ  जांच कर  गिरफ्तारी करता है  तो सत्ता पक्ष के दबाव में  उसका तबादला  या उसको लाइन हाजिर  करवाया जा सकता है पीड़ित पक्ष का आरोप है  कि आरोपीगण खुले आम जान से मारने की धमकी दे रहे हैं जिससे पीड़ित पक्ष काफी भयभीत नजर आ रहा है ।