Home Crime ग्रामीणों का आरोप आवास के नाम पर जितामऊ प्रधान कर रहा धन...

ग्रामीणों का आरोप आवास के नाम पर जितामऊ प्रधान कर रहा धन उगाही

ग्रामीणों का आरोप आवास के नाम पर जितामऊ प्रधान कर रहा धन उगाई

सीतापुर

 

  • रिपोर्ट प्रशान्त अवस्थी

 

आपको बताते चले  लहरपुर ब्लॉक की ग्राम सभा जीतामऊ में आवास के लाभार्थियों से जीतामऊ प्रधान खुलेआम धन उगाही कर रहा है बीस हज़ार दो आवास लो के नाम पर हो रहा करोङो का बन्दरबांट ग्राम प्रधान से लेकर ग्राम पंचायत सचिव बैंक शाखा प्रबंधक की मिली भगत से खेला जा रहा बड़ा खेल गौरतलब है  की जाहिरा पत्नी मो.आमीन का जो आवास पात्रता सूची में बनने को आया था। ग्राम प्रधान रहमत अली के द्वारा आवास बनने के पहले ही लाभार्थियों से 20 से 25 हजार की धन उगाही कर ली जाती है जिसके बाद में जब आवास बनने लगता है। तब प्रधान लाभार्थी की पासबुक अपने पास रख लेता है और लाभार्थी से सादे बावचर पर दस्तखत करवा लेता है तपश्चात अपनी मर्ज़ी से लाभार्थी का आवास बनवाने का सामान मुहैया करवाता है उस सामान की खरीद दारी में प्रधान का कमीशन  होता है ।और उस सामान की खरीद का कोई भी रसीद लाभार्थी को मुहैया नही करवाता है जिससे लाभार्थियों को उनको मिलने वाला आवास के पैसों का कोई ज्ञान नही रहता कि क्या प्रधान लाया और क्या आवास में सामग्री लगी ऐसे ही गांव के  लाभार्थी जाहिरा पत्नी आमीन का कहना है कि अब भी हमसे प्रधान रहमत अली और पंचायत मित्र अजय वर्मा 5 हजार रुपये की मांग कर रहा है लाभार्थी का कहना कि मेरे द्वारा 20 हजार पहले ही मांग की गई थी मैने उधार लेकर प्रधान को जैसे तैसे दिया अब पांच हज़ार की मांग की जा रही है  अब हमारे पास 5 हजार रुपये नही है पीड़ित  का कहना  है कि मेरे पास खाने को भोजन नही रुपये कहाँ से लाकर दूं। जाहिरा पत्नी आमीन का कहना है कि हमने अपने  जेवर और तीन बकरियां बेच दी और अपने रिश्तेदारो से उधार पैसे लिए तब अपना आवास बनवाया है,लेकिन अभी तक मनरेगा का पैसा नही मिला है लाभार्थी का कहना है कि आवास बने करीब 6 महीने हो गए हैं कल्लू नाम का आदमी जो पटरा बल्ली जो किराये पर देता हैं उसका किराया बाकी होने के कारण उसने आमीन की सायकिल छीन ली है मैं एक एक पैसे से मोहताज़ हूँ, अब 5 हजार कहाँ से लाऊँ जो प्रधान और पंचायत मित्र को दूं मैं शासन प्रशासन से न्याय की गुहार लगा रहा हूँ ।मुझे न्याय मिले। प्रधान के खिलाफ सख्त कार्यवाही की मांग की है