Home Sitapur बिसवां/सीतापुर दशहरा बाज़ार से हटाए गए अतिक्रमण से नगर पालिका की बढ...

बिसवां/सीतापुर दशहरा बाज़ार से हटाए गए अतिक्रमण से नगर पालिका की बढ सकती हैं मुश्किलें

 

 

रिपोर्ट अय्यूब खान

 

बिसवां-के दशहरा बाजार के निकट स्थित मछली मंडी व मीट  दुकानदारों को पालिका प्रशासन ने एलाउंसमेन्ट करवा कर जमीन खालीकरने का आदेश दे दिया दुकानों को  रेलवे क्रासिंग सीतापुर रोड पर शिफ्ट करवा कर। खाली पड़ी जमीन के चारों तरफ रक्खी दुकानों को बगैर नोटिस दिये। उपजिलाधिकारी मय पुलिस बल व नगर पालिका कर्मचारियों द्वारा (जे,सी,बी,) की सहायता से तोड़ फोड़ कर लाखों रुपए के माल की बर्बादी की गई।जब की उनको कहि पर बसाने के लिए जगह का इंतजाम भी नही किया।अब सवाल यह उठता है कि अतिक्रमण सिर्फ वहीं पर था।नगर के बड़े चौराहे व जहाँगीराबाद रोड पर तो जाम की बड़ी दिक्कतें रहती है।जिस से आये दिन हादसे होते रहते है।और कई जानें भी जा चुकी है। पहले तो उन जगहों पर अतिक्रमण हटाना चाहिए था।पर सुरुआत मछली मंडी से हुई।लेकिन दूसरे व तीसरे दिन भी अतिक्रमण और जगहों से नही हटाया गया।इस बात को लेकर लोगों के बीच चर्चा का विषय बना हुआ है।इसी क्रम के साथ खाली कराई गई जमीन के बारे में 

सूत्रों से मिली जानकारी के अनुसार उक्त गाटा संख्याये कैथी टोला निवासी प्रेम नरायड ,बद्री प्रसाद,ललित मोहन,आदि  लोगों के नाम तहसील के अभिलेखों में फर्जी दर्ज किया गया है।इसी भूमि को नगर पालिका राजा महमूदाबाद से लीज(करार) पर ली गयी भूमि बताता है।यह जांच का विषय है। जब कि गाटा संख्या 1470 व 71 पर सुप्रीम कोर्ट के आदेशानुसार राजा महमूदाबाद के द्वारा किये गए बैनामों के आधार पर कई मुकदमें न्यालय श्रीमान सिविल जज सीनियर डिवीजन महोदय सीतापुर के यहां विचाराधीन है। सूत्रों की माने तो उनका यह भी कहना है कि इन्हीं प्लॉटों को चेयरमैन के पति राजू जैन, नीरज जैन, व उनके भूमाफिया सहयोगी खरीदना चाहते हैं।इसी कारण अतिक्रमड हटाने का सहारा लेकर प्रशासन की मदद ली जा रही है।आपको बता दें कि इससे पूर्व भी पूर्व मंत्री बुनियाद हुसैन अंसारी द्वारा जमीन खाली कराने का प्रयास किया जा चुका है। मिली जानकारी के अनुसार बुनियाद हुसैन अंसारी के बेटे जुनैद के नाम इसी जमीन का रजिस्टर्ड एग्रीमेंट भी है।जो कि राजू जैन नीरज जैन आदि के सहयोगी है।जब कि राजा महमूदाबाद की समस्त भूमि का मुकदमा आज भी  माननीय सर्वोच्च न्यायालय में विचाराधीन है।