Home Agra पुलिस का एक और मानवीय चेहरा, धूप, बारिश की फिक्र नहीं

पुलिस का एक और मानवीय चेहरा, धूप, बारिश की फिक्र नहीं

आगरा।उफ्फ ये गर्मी!!! आज कल जो भी घर से बाहर निकलता है उसके मुंह से बरबस ही ये बात बाहर निकल जाती है। आखिर निकले भी क्यों नहीं, आज कल गर्मी पड़ ही ऐसी रही है। एक तरफ घर से बाहर निकलने से पहले आम जन कई बार सोचते हैं। वहीं दूसरी तरफ, हमारे ट्रैफिक पुलिस कर्मी जो दिन भर इस बारिश आैर  कड़ी धूप और गर्मी में सड़कों पर ट्रैफिक व्यवस्था संभालने में लगे रहते हैं।

 

तपती धूप में खड़े रहते हैं पुलिसकर्मी

 

गर्मी का नाम सुनते ही हमें ठंडे कमरों की याद आती है। लेकि क्या आपने सोचा है कि तपती दोपहरी में ट्रैफ़िक की व्यवस्था में लगे घंटों खड़े जवानों पर क्या बीतती होगी। वो तीखी धूप, चुभती गर्मी जिसमें आप एक पल आना पसंद ना करें, वहां जवान घंटों खड़े रहकर अपनी ड्यूटी करते हैं, ताकि यातायात आपके लिए परेशानी का सबब ना बने।

 

ऐसे मौसम में जहां बिना कारण लोग घरों से नहीं निकलते, वहीं ट्रैफिक पुलिस के जवान पूरी मुस्तैदी से अपनी ड्यूटी करते हैं। हालांकि यह उनका कर्तव्य है, लेकिन ड्यूटी में सपोर्ट करने वाले संसाधन प्राप्त करना उनका भी नही अधिकार है।

 

कामचलाऊ भी नही है पानी पीने की व्यवस्था क्या कोई इनकी भी परवाह करेगा

 

चौराहों पर तैनात ट्रैफिक पुलिस घंटों धूप में खडी़ होकर यातायात व्यवस्था बनाए रखने का काम करती है। जिस धूम की तपिश में आम लोग पांच मिनट नहीं खड़े हो पाते, उस तपिश को ये पुलिसकर्मी सिर्फ लोगों की सुविधा के लिए झेलते हैं।

 

ऐसे में जब इन्हें प्यास लगती है तो स्थायी रूप से चौराहों पर ट्रैफिक पुलिस के लिए पानी की व्यवस्था नजर नहीं आती। अखबार में लपेट कर रखी गई पानी की बोतल ही इनका सहारा होती है। इस बोतल में जरूरी नहीं कि ठंडा पानी ही हो।

 

पेड़ बनते हैं छांव का सहारा

घंटों तक चौराहे पर खड़े होकर ड्यूटी करने के बाद जब ट्रैफिक पुलिस को कुछ देर आराम करने को मिलते हैं तो पेड़ इनका सहारा बनते हैं। कुछ ही चौराहों पर ट्रैफिक पुलिस के आराम के लिए कैनओपी लगी नजर आती है। समस्याएं तो बहुत सी हैं लेकिन सुविधाएं नहीं।

 

ऐसे में जब भी आप चौराहे पर किसी पुलिसकर्मी से बहस करें, तो यह जरूर सोचिएगा कि आप तो बहस करके वहां से निकल जाएंगे। लेकिन वो पुलिसकर्मी वहीं बारिश या धूप में खड़े होकर सिर्फ आपके लिए ड्यूटी निभाएगा।धन्यवाद है सिपाही विष्णु जी को