Home Social/Othar शौंचालय निर्माण में तेजी लावें सचिव-जिलाधिकारी

शौंचालय निर्माण में तेजी लावें सचिव-जिलाधिकारी

श्रावस्ती रिपोर्ट
श्रावस्ती। धन देने के बावजूद शौंचालय निर्माण में शिथिलता अब बर्दाश्त नही होगी। सम्बन्धित ब्लाक के ए0डी0ओ0 पंचायत से लेकर पंचायत सचिवों को जवाब देह मानते हुए उनके खिलाफ कठोर कार्यवाही के साथ ही ग्राम प्रधानों के विरूद्ध भी कार्यवाही सुनिश्चित होगी। शौंचालय निर्माण में फिसड्डी सचिवों को अब सूचीबद्ध किया जायेगा तथा उनके खिलाफ कार्यवाही भी सुनिश्चित की जायेगी। उक्त निर्देश कलेक्ट्रेट सभागार में ग्राम सचिव/ए0डी0ओ0 पंचायत/खण्ड विकास अधिकारी के साथ शौंचालय निर्माण/मनरेगा/प्रधानमंत्री आवास लक्ष्य की समीक्षा बैठक की अध्यक्षता करने के दौरान जिलाधिकारी दीपक मीणा ने दिया है। उन्होने जोर देते हुए कहा कि जिन गावों में शौंचालय निर्माण हेतु धनराशि दी गई है। उन गावों में सम्बन्धित क्षेत्र के खण्ड विकास अधिकारी जाएं और लोगों को प्रेरित करके शौंचालय निर्माण में तेजी लावें और यदि निरीक्षण के दौरान शौंचालय निर्माण के गुणवत्ता में कमी पाई जाती है तो उसकी रिपोर्ट प्रस्तुत करें ताकि ए0डी0ओ0 पंचायत से लेकर पंचायत सचिव, प्रधान और बी0सी0 के विरूद्ध कार्यवाही की जा सके। जिलाधिकारी ने सभी ग्राम सचिवों को निर्देश दिया कि निर्धारित समयान्तर्गत अपूर्ण शौंचालय को पूर्ण करायें तथा ब्लाकों में तैनात ब्लाक को-आर्डिनेटरों को निर्देश दिया कि वे अपने क्षेत्र में शौंचालय निर्माण की प्रगति से अपने खण्ड विकास अधिकारियों से निरन्तर अवगत कराते रहें और फीड बैक देते रहें ताकि शौंचालय निर्माण कार्य में शिथिल सचिव एवं प्रधानो के खिलाफ कार्यवाही प्रस्तावित की जा सके। बैठक में मनरेगा कार्य तथा प्रधानमंत्री आवास की समीक्षा की गई जिसमें प्रगति धीमी होने के कारण प्रभारी जिलाधिकारी ने गहरी नाराजगी जताई तथा सभी ग्राम सचिव को निर्देश दिया कि जल्द से जल्द अपूर्ण कार्य को पूरा करावें। बैठक में जिला विकास अधिकारी, परियोजना निदेशक, डी0सी0 एन0आर0एल0एम0, जिला समन्वयक सर्व स्वच्छ भारत मिशन राज कुमार त्रिपाठी तथा हरिगेन्द्र वर्मा, समस्त खण्ड विकास अधिकारी सहित सचिवगण उपस्थित रहे। 

IMG_20181101_152925.jpg