Home Banda बाँदा का एक ऐसा सरकारी विद्मालय जो तैर रहा है पानी मे

बाँदा का एक ऐसा सरकारी विद्मालय जो तैर रहा है पानी मे

बाँदा का एक ऐसा सरकारी विद्मालय जो तैर रहा है पानी मे

बाँदा रिपोर्ट के के गुप्ता :- अतर्रा ग्रामीण मे स्थित पूर्व माध्यमिक विद्मालय गया प्रसाद के पुरवा मे है जो कि चारो तरफ से पानी से घिरा हुआ है। एवँ आने जाने का कोई रास्ता नही है तथा पूरा विद्मालय जर्जर अवस्था मे है एवँ छत से पानी टपकता है ।बच्चों के बैठने की जगह बरसात मे नही हो पाती । तथा जमीन की पूरी फर्श उखड चुकी है। बच्चों को व अध्यापकों को विद्मालय जाने के लिये कपडे व जूते उतारकर विद्मालय भवन मे जाना पडता है ।

इस सम्बंध मे जब हमने प्रधानाचार्य से बात की तो उन्होंने बताया कि ग्राम प्रधान व सचिव केवल एक बार एम.डी.एम. की जाँच के दौरान एक बार ही आये थे तब हम लोगो के द्वारा विद्मालय से सँबनि्धत जानकारी दी थी तथा उक्त विद्मालय मे बाउंड्री वाल भी नही है। एवँ राशन सामग्री सफाई कर्मी के द्वारा भेज दी जाती है । तथा शौचालय भी नही बने हुये है जिस कारण से बच्चे एवँ बच्चियों तथा अध्यापकों को काफी बडी मुसीबत का सामना करना पडता है।

हमारी टीम के साथ गांव के ही वार्ड नँ. 48 के क्षेत्र पँचायत सदस्य लोकेंद्र कुशवाहा. राकेश कुमार. सँदीप कुशवाहा. कृष्ण गोपाल .सँजय.राजकरन. सभी लोगो ने ग्राम प्रधान व सचिव द्वारा किसी भी तरीके का गाँव मे किसी भी प्रकार का विकास कार्य नही किया गया है । इस पूरे गांव मे न कोई शौचालय और न ही कालोनी है तथा सरकारी योजनाओं से पूर्णतया वँचित है यह गांव जिसमे लगभग बारह सौ लौगो की आबादी है।