Home Health/Accident आखिर कब तक चैन की नींद सोयेगा बिजली विभाग, कब रुकेगा मौत...

आखिर कब तक चैन की नींद सोयेगा बिजली विभाग, कब रुकेगा मौत का तांडव

आखिर कब तक चैन की नींद सोयेगा बिजली
घाटमपुर । कोतवाली क्षेत्र की साढ़ चौकी  के छ्तेरूआ गांव में सोमवार सुबह तीन बजे लाइट के तार टूटकर गिरने से रमाकांत कोरी की भैंस की दर्दनाक मौत हो गई ।वहीं घर के बाहर रघुवीर दिवाकर, कुलदीप कुरील, सम्भूदयाल कुरील और प्रेमनारायन कुशवाहा लेटे हुए थे बिजली के तार की चपेट में आने से बाल बाल बच गए।
प्रेमनारायन सुबह तीन बजे जेसे ही शौच के लिये गये उसी के तुरतं  बाद लाइट का जर्जर तार उनकी चारपाई मे गिर गया। लोगों ने तुरन्त  साढ़ पुलिस को फोन कर अवगत कराया। लेकिन साढ़ पुलिस अपना खेल खेल गई।साढ़ पुलिस के कर्मचारियों ने रमाकांत की भैंस की जो मृत्यु हो गई ।उसे घटना स्थल से तुरन्त हटाने को कहा ।रमाकांत से कहा कि मुवाबजा के लिए मत बैठो कुछ नही मिलेगा । रमाकांत बेचारे क्या करते सामने जो मजबूर होकर मृत भैंस के शरीर को पास ही के जंगल मे दफना दिया जा के। रमाकांत ने  अपनी भैंस की कीमत लगभग तीस हजार रुपये बताई ।
कब तक चलेगा मौत का यह तांडव
बताते चले कि  बीती पिछली   ग्यारह तारीख को पास के ही गांव चंदापुर में तार टूटने से दो कीमती भैसों की मृत्यु हो गई गई थी ।इसके तुरंत दो दिन बाद साढ़ चौकी क्षेत्र के चिरली गाँव मे एक अधेड़ की दर्दनाक  मौत हो गई थी ।आखिर कब तक सोता रहेगा बिजली विभाग । कब तक ऐसे ही चलता रहेगा मौत का तांडव ।