Home Health/Accident बिसवां/सीतापुर शो पीस बना जनरेटर गर्मी से गर्भवती महिलाएं बेहाल

बिसवां/सीतापुर शो पीस बना जनरेटर गर्मी से गर्भवती महिलाएं बेहाल

 

 

रिपोर्ट अय्यूब खान

 

बिसवां-प्रदेश सरकार सूबे में बेहतर स्वास्थ्य सुविधाओं के लाख दावे करले मगर यह दावे जमीनी स्तर पर वादे खरे साबित नहीं हो रहे है। स्वास्थ्य सुविधाएं  अपनी बदहाली पर आंसू बहा रहा है आपको बता दें दर असल मामला सीतापुर के सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र बिसवां का है जहां पर गर्भवती महिलाए जमीन पर लेटने को मजबूर हैं वार्ड में बेड खाली पड़े हैं। इतनी भीषण गर्मी कि वजह से मरीज बाहर बरामदे में लेटने को  मजबूर हैं।अस्पताल के भर्ती वार्ड में चार बेडो पर एक ही पंखा लगा है। लाइट चली जाए तो मरीजों का हाल बेहाल हो जाता है। वही दूसरी और डॉक्टरों के लिए इनवर्टर जनरेटर सौर ऊर्जा जैसे तमाम सुविधाएं उपलब्ध हैं।लेकिन मरीजों की सुध लेने वाला कोई नहीं अस्पताल प्रशासन पूरी तरह से गैर जिम्मे दाराना रवैया अपना रहा है। जिन वार्डों में कोई नहीं होता उसमें लगातार पंखे चलते रहते हैं और जहां पर जरूरत है वहां पर सिर्फ देखने को ही पंखे लगे हैं वह भी बिजली के सहारे बिजली आती है तो पंखे चलते हैं बिजली नहीं आती है तो पंखे नहीं चलते हैं। वहीं दूसरी और डॉक्टर व अस्पताल प्रशासन 1 मिनट भी गर्मी नहीं झेल सकता अस्पताल प्रशासन के लिए बेहतर सुविधाएं उपलब्ध हैं। लेकिन अफसोस की बात इतनी भीषण गर्मी में मरीजों के लिए बेहतर सुविधाएं उपलब्ध नहीं है। प्रदेश सरकार बेहतर स्वास्थ्य सुविधाओं पे लाखों रुपए पानी की तरह बहा रही है।लेकिन जिम्मेदार अधिकारी जिम्मेदारी से भागते नज़र आते है।बिसवां सीएससी अधीक्षक डॉ अमित कपूर से फोन पर बात करके समस्या से अवगत कराया गया डॉक्टर अमित कपूर ने बताया चेक करा कर समस्या का समाधान किया जाएगा अब देखना यह है अपनी जिम्मेदारी के प्रति अधिकारी व स्वास्थ्य विभाग कितना जिम्मेदार साबित होता है।